कलीद-ए-ईमान : तौरात और इंजील-ए-शरीफ़ को समझने की कुंजी

बख़्तुल्लाह ख़ान

कलीद-ए-ईमान : तौरात और इंजील को समझने की कुंजी

तौरात और इंजील-ए-शरीफ़ का बन्यादी पैग़ाम क्या है? इन्हें समझने की कुंजी चार मरकज़ी उसूलों में पाई जाती है।